Monday, November 17, 2008

किसी और ने आपके जीमेल खाता मे लोग ऑन तो नही किया न

क्या आपको लगता है की आपका गूगल खाता का कूटशब्द किसी और को पता चल गया है? क्या आप जानना चाहते है कि आपका गूगल खाता आपके अलावा किसी अन्य कंप्यूटर पर खोला गया है? इसके लिए गूगल ने आपके जीमेल खाता के अन्दर ही सुविधा दे रखी है... बस आपको उसका उपयोग के बारे मे जानकारी भर होना चाहिए गूगल मेल मे दी गई इस सुविधा की मदद से आप उन सारे कंप्यूटर का आईपी पता जन सकते है जिनपर आपके गूगल खाता को खोला गया है अब आप उसे अपने कंप्यूटर या जिस कंप्यूटर से आप गूगल खाता को खोलते है, उससे मिलान कर जान सकते है कि किसी अन्य कंप्यूटर से आपके खाते को खोला गया है या नही

इसके लिए आपको जीमेल मे सबसे निचे मे दिए गए विवरण (Details) पर क्लि रना होता है इसे आप चित्र में देख सकते है


विवरण पर क्लिक करते ही एक नयी विण्डो मे गूगल आपके खाता पर लोग ऑन का पुरा विवरण दिखा देगा
इसे आप चित्र मे देख सकते है


बस आप थोड़ा सा प्रयास कर जान सकते है कि आपका जीमेल खाता किसी अन्य कंप्यूटर से खोला गया है या नही...

3 comments:

कुन्नू सिंह November 18, 2008 at 12:40 AM  

बढीया जानकारी है। पर आई पी अगर आपका ही है तो ईससे कई खतरे बढ जाते हैं। मतलब आई पी एड्रेस ऎसे दिखाने पर आप कहां रहते हैं? कौन सा कनेंक्सन लीया है आपने? फोन नंबर?

ये सब पता चल जाता है। और कई सारे खतरे हैं। जैसे आपको हैक करना आसान हो जाएगा।

ईसीलीये आईपी एड्रेस पूरा दिखाने से बचे। और भी कई नूकशान है जो मूझे भी नही पता है।

अभिषेक आनंद November 18, 2008 at 1:37 PM  

आपने ये बात तो सही कही है कि आईपी एड्रेस दिखने से काफी सारे खतरे है, और देख लीजिये मैंने आईपी पता को छुपा दिया है. वैसे ये पता साइबर कैफे का था. आईपी एड्रेस को दिखने से क्या खतरे हो सकते है और उनसे कैसे बचा जा सकता है, इसे मै अगले किसी पोस्ट में विस्तृत रूप से बताऊंगा.

Ankur Gupta November 24, 2008 at 4:01 PM  

डायनेमिक आई पी का कुछ हल बतायें. मेरा आई पी तो हर वक्त बदलता रहता है जब भी मैं माडेम को स्विच आफ़ आन करता हूं. तो फ़िर जी मेल भी तो कई अलग अलग आई पी पते बतायेगा पर वो सारे मेरे ही होंगे.

Post a Comment

आपके विचारों का स्वागत है

Latest Post

Lattest Comment

English Blog Se

Visitor No.

  © Blogger template The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP